आपकी हर रोज़ परीक्षा है : आनंदश्री

भूप एक्सप्रेस।
मुम्बई। आध्यात्मिक व्याख्याता एवं माइन्डसेट गुरु आनंदश्री ने बताया की जब स्कूल की परीक्षा समाप्त हो जाती है तो जिंदगी आपकी हर रोज़ परीक्षा लेती हैं। यह परीक्षा आपकी मानसिकता की होती है। परीक्षा आपके चुनाव, निर्णय और आपके बर्ताव की होती है। यह रोज़ आपके साथ होता है।

आप इस परीक्षा में पास कब होते है

जब आप समस्या में उलझ जाते है तो आप फेल हो जाते हो।जब आप रिएक्शन देते है, चिल्लम चिल्ली करते है तो फ़ेल हों जाते हो। जब आप दुखी होते हो तो आप फ़ेल हो जाते हो।

इसी के विपरीत जब आप शांत रहते हो। जब आप समस्या को अपने आप पर हावी न होने देते है तो आप पास हो जाते हो। जब आप मुस्कुराते हो, आनंदित होते है तो आप पास हो जाते है।

यह परीक्षा रोज़ रोज़ आपकी पात्रता बढ़ाने के लिए ही हो रहा है।

जी हाँ.. सब कुछ आपके लिए ही हो रहा है। आपकी पात्रता बढ़ाने के लिए प्रकृति और ईश्वर षडयंत्र रचती हैं । इस परीक्षा में जब आप ( इग्नोर करते है और आप आगे बढते है ) पास होते है तो आपके साथ ईश्वर भी पास होते है। वह भी खुश होते है।

समस्या आपकी समस्या नही है

सच मे यह समस्या आपकी समस्या नही है। हो सकता है आपका बॉस बुरा है, आपके पति / पत्नी बुरे है, चिड़चिड़े है। लेकिन वे आपके ज़िंदगी मे आपके परीक्षा का जरिया है। सब समय के साथ विलीन हो जाएगा। आपकी समस्या, आपके दुख आपके परेशानियां केवल और केवल आपकी पत्रतावको बढ़ाने का एक सिस्टम है।