झांबा गांव में 100-100 वर्ग गज प्लांटो का मामला. . . . . . . . . बिना प्रशासन अनुमति के प्लांट लाभार्थीयों ने स्वयं पैमाईस कर लगाए तंबू, वहीं बनाकर खाया खाना प्रशासन को दिया था अल्टीमेटम, पैमाईस कराकर नही दिए प्लांट तो उन्होने स्वयं ही की कार्यवाही

भूप एक्सप्रेस।
बापौली (अली मेहर)। झांबा गांव में अखिल भारतीय खेत मजदूर यूनियन के नेतृत्व में 100-100 वर्ग गज प्लांट लाभार्थीयों ने बिना प्रशासन की अनुमति के स्वयं प्लांटों की निशानदेही कर तंबू लगाने का कार्य शुरू कर दिया। जबकि विभागीय अधिकारी न्यायालय के आदेशानुसार कार्यवाही करने की बात कर रहे है। मंगलवार 16 नवम्बर को झांबा गांव में 100-100 वर्ग गज प्लाट धारकों ने स्वयं ही जमीन पर अपने प्लांटों की निशानदेही कर तंबू लगाते समय बताया कि 90 ग्रामीणों को सरकार की और से 100-100 वर्ग गज के प्लाट वितरित किए गए थें। जिनकी रजिस्ट्रीयां भी उनके पास है, परन्तु करीब 12 वर्ष बीत जाने के बाद भी प्रशासन की और से उन्हे कब्जा नही दिलाया गया। जिस कारण अब उन्होने स्वयं ही अपने प्लाटों पर बिना प्रशासन के कब्जा ले लिया है। उन्होने बताया कि 3 जून 2021 को ड्यूटी मजिस्ट्रेट व तहसीलदार बापौली ने राजस्व रिकार्ड के अनुसार पुलिस बल के साथ जमीन की निशानदेही की थी। लेकिन उन्हे कब्जा नही दिया गया।


उन्होने बताया कि 29 अक्तूबर को माननीय कोर्ट ने स्टे की अर्जी का भी खारिज कर दिया है। इसके उपरांत उन्होने 2 नवम्बर को एसडीएम समालखा व बीडीपीओ सनौली खुर्द को उनके प्लांटो की निशानदेही कराने का आग्रह किया था, लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई। अखिल भारतीय खेत मजदूर यूनियन ने बताया कि दिवाली के पर्व पर सभी प्लांट धारकों ने उक्त जमीन पर सामूहिक रूप से दीपावली महोत्सव मनाया था। और 8 नवंबर को उन्होने एसडीएम समालखा को मांग पत्र के माध्यम से अल्टीमेटम दिया था कि अगर 13 नवंबर तक उनके प्लांटों क पैमाईस नही हुई तो वो स्वयं ही अपने प्लांटो की पैमाईस कर निर्माण कार्य शुरू कर देगें, परन्तु इसके उपरांत भी कोई कार्यवाही नही हुई। जिसकारण अब उन्होने स्वयं ही अपने प्लांटों की पैमाईस कर तम्बू लगाने का कार्य शुरू कर दिया है।


इतना ही नही बल्कि कुछ परिवारों ने तो उक्त जगह पर लगाए गए तम्बूओ में खाना बनाया और कहा कि अब वो यही पर रहेगें, क्योकि उक्त प्लाट उनके है। इस मौके पर नसीबू,पवन, बबली, बिमला, साहब सिंह, माया,बिसम्बर,सोना, जमीला,हुसन, चंदा, उम्रद्दीन, सावित्री, गीता, विद्या, सुमित्रा, राजवंती, सीमा, राजपति, निर्मला,नीलम,रणजीता, कृष्णा, राजेश, कृष्ण, रविन्द्र, मीना, धन्ना, अरुण,बजिन्द्र,केला,झूप्पड़, फूलकली, मुन्नी, पालेराम इकबाल,रोजू, सतवंती, नफीस, कमलेश, शरबती आदि महिला पुरुष मौजूद रहे।

निशानदेही के दौरान ग्रामीणों ने जताया था रोष

झांबा गांव में महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती के तहत आवंटित प्लांटों की जमीन की प्रशासन द्वारा पुलिस बल के साथ 3 जून 2021 को की गई निशान देही के दौरान ग्रामीणों ने रोष प्रकट करते हुए कहा था कि राजस्व रिकार्ड के अनुसार उक्त जमीन पंचायत की नही है बल्कि हिस्सेदारों की है। ग्राम पंचायत उक्त जमीन की मात्र पट्टेदार है। मालिक नही है। जिसकारण उक्त जमीन पर प्लांटों का आवंटन नही किया जा सकता है।

वर्जन

इस विषय में एडिशनल सीईओ कम बीडीपीओ सनौली खुर्द राजेश सोनी का कहना है कि कानून अनुसार कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। वही एसडीएम समालखा अश्वनी मलिक का कहना है कि कानून अनुसार कार्यवाही करने के लिए उन्होने बीडीपीओ सनौली खुर्द के आदेश दे रखें है।