क्षेत्र के पहले अधिकारी ने बीडीपीओ कार्यालय की और से पहली बार कराई गई यमुना, पुल पर यमुना घाट की सफाई कार्तिक पूर्णिमा पर हजारों श्रद्वालूओ ने किया था स्नान, फैली हुई थी गंदगी

धार्मिक तीर्थो की साफ सफाई करने से भी पुण्य की प्राप्ति होती है: बीडीपीओ सोनी

भूप एक्सप्रेस।
बापौली (अलीमेहर) 20 नवंबर।
कार्तिक माह की पूर्णिमा के बाद पहली बार क्षेत्र के किसी सरकारी अधिकारी ने यमुना पुल पर सफाई अभियान चालकर यमुना घाट पर फॅैली गंदगी की सफाई कराई और कहा कि यमुना नदी आस्था की प्रतिक है और विशेष पावन पर्व के साथ-साथ अन्य दिनों में भी श्रद्वालू यमुना नदी में स्नान्न करने के लिए आते है, इसलिए यमुना नदी को साफ व स्वच्छ रखना हमारी जिम्मेदारी ही नही बल्कि महारा कर्तव्य है। यमुना पुल पर सफाई कराने का सहरानीय कार्य पहली बार क्षेत्र के सरकारी अधिकारी एडिशनल सीईओ कम बीडीपीओ सनौली खुर्द राजेश सोनी ने क्षेत्र के ट्यूबवैल आपरेटरों की ड्यूटी लगाकर शुरू कराया। ट्यूबवैल आपरोटरों ने इतनी श्रद्वा दिखाई कि उन्होने पूरा दिन सफाई अभियान चलाकर यमुना घाट का साफ सुथरा व स्वच्छ बना दिया। राजेश सोनी के साथ -साथ ट्यूबवैल आपरेटर भी बधाई के पात्र है। इतना ही नही बल्कि कार्तिक पूर्णिमा के पर्व पर पहली बार राजेश सोनी ने श्रद्वालूओ की सुविधा के लिए कार्यालय के कर्मचारीयों की भी ड्यूटिया लगाई थी। आपको बता दें कि कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर हजारों श्रद्धालुओं ने यमुना नदी में स्नान किया था जिसके चलते यमुना नदी घाट पर काफी संख्या में पॉलिथीन व अन्य प्रकार का कूड़ा पड़ा हुआ था जिसको लेकर एडीशनल सीईओ कम बीडीपीओ सनौली खुर्द राजेश सोनी ने ने दिशा निर्देश दिए कि यमुना घाट की सफाई की जाए जिसको लेकर यमुना नदी पर साफ सफाई का कार्य किया गया। राजेश सोनी ने कहा कि साफ सफाई में ही देवता वास करते हैं। उन्होने कहा कि धार्मिक तीर्थो की साफ सफाई करने से भी पुण्य की प्राप्ति होती है। बीडीपीओ के इस सहरानीय कार्य की क्षेत्र में जमकर चर्चा चली हुई है और चारो तरह वाह-वाही हो रही है।