पुलिस कर्मियों के स्वास्थ्य की जांच के लिए थाना समालखा में लगाया स्वास्थ्य जांच शिविर

नि:शुल्क जांच व परामर्श शिविर में 109 पुलिसकर्मी के स्वास्थय की जांच की गई

भूप एक्सप्रेस।
समालखा (पानीपत) नंदपाल। पुलिस कर्मचारियों के स्वास्थ्य को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के दिशा निर्देशानुसार पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की जांच के लिए शनिवार को थाना समालखा में एक विशेष जांच शिविर का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य जांच शिविर में एनसी मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ महेंद्र सिंह, डॉ अशोक, डॉ साहिल दता, डॉ दितेश जेन, डॉ हरिप्रिया, डॉ ललित, डॉ जीपीएस गिल ने अपने सहयोगी स्टाफ के साथ पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की जांच करने के साथ ही परामर्श भी दिया गया। शिविर में लिपिड प्रोफाईल केएफटी, एलएफटी, ईसीजी, सीबीसी, युरेन ऐसिड, ब्लड प्रेशर, बीएमआई व ब्लड शुगर की जांच की गई। शिविर में पहुंचे 109 पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की जांच की गई।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सिंह ने स्वास्थ्य जांच शिविर में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचकर विधिवत शुभारंभ किया। उन्होंने कहा की स्वस्थ रहना हर व्यक्ति के लिए जरूरी है। पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी व आराम करने का कोई निश्चित समय नही होता। पुलिस विभाग की ड्यूटी अन्य विभागों की तुलना में सख्त होती है। समय पर न सोना, पूरी नीद न ले पाना, समय पर खाना न खाना, व्यायाम न करना, बुरी आदतों को ग्रहण कर लेना इत्यादी कारणों से शरीर पर विपरित प्रभाव पड़ता है। अपने आपको स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए तथा नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य की जांच करवानी चाहिए। आपकी सेहत अच्छी होगी तो आपकी कार्यक्षमता व कार्य कुशलता बढेगी।
उन्होंने बताया पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के कुशल प्रयासों से आज एनसी मेडिकल कॉलेज की और से इस नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच व परामर्श शिविर का आयोजन हुआ है। इस प्रकार के शिविरों का आयोजन कर जिला के प्रत्येक पुलिसकर्मी के स्वास्थ्य की पूर्ण जांच की जाएगी। रोग ग्रस्त कर्मचारियों का विशेष चिकित्सकों से इलाज भी करवाया जाएगा। पानीपत पुलिस का मकसद है कि प्रत्येक पुलिस कर्मचारी स्वस्थ हो ताकि वह पहले की अपेक्षा ज्यादा मेहनत व जोश से अपनी ड्यूटी कर सके तथा समाज की सेवा कर सके। समाज को सुरक्षित रखने के लिए पुलिसकर्मियों का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। पानीपत पुलिस में तैनात फार्मासिस्ट देवेंद्र सिंह व राकेश का शिविर के आयोजन में विशेष योगदान रहा।

एनसी मेडिकल कालेज से पहुंचे टीम इंचार्ज डॉ. महेंद्र सिंह ने पुलिस कर्मचारियों के स्वास्थ्य की जांच उपरांत परामर्श देते हुए बताया कि मधुमेह व ब्लडप्रेशर से बचने के लिए प्रतिदिन व्यायाम करें, हरी सब्जी, मौसमी फलो का सेवन करें ,तली भुनी चिजों का सेवन कम से कम करें, अपना ब्लड प्रेशर व शुगर की हमेशा जांच कराये। ब्लड प्रेशर व शुगर के लक्षण के बारे में बोलते हुए डॉ सिंह ने कहा कि सीने मे दर्द होना, बेचेनी होना, पसीना आना, घबराहट होना आदि ब्लड प्रेशर के लक्षण हैं।  थकान होना, अचानक वजन कम होना, बार-बार पेशाब आना, ऑखों की रोशनी का कम होना, किसी घाव का जल्दी न भरना आदि मधुमेह के लक्षण होता है। उन्होने पुलिसकर्मियो को मानसिक तनाव से कैसे दूरे रहे इस के बारे में भी विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस विभाग की नोकरी मे बहुत तनाव रहता है। इसे दूर करने के लिए तनाव वाली बातो को अपने दोस्तों व परिजनों के साथ सांझा करे। साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करे व धूम्रपान व शराब सेवन न करें।

शिविर में उप-पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार, समालखा एसएमओ डॉ संजय आंतिल, थाना समालखा प्रभारी इंस्पेक्टर नरेंद्र, थाना बापौली प्रभारी इंस्पेक्टर उमर मोहम्मद, समालखा यातायात इंचार्ज सब-इंस्पेक्टर राजेश व अन्य पुलिसकर्मी उपस्थित रहे।