काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण: पीएम मोदी ने काशी से तय की यूपी विधान सभा चुनाव की दिशा

एक तीर से साधे कई निशाने, शिवाजी से लेकर महाराज सुहेलदेव राजभर का लिया सम्बोधन में नाम, मुगलों को बताया आततायी

भूप एक्सप्रेस।
काशी। काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी यूपी के 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव की दिशा तय कर रहे हैं. उन्होंने एक तीर से कई निशाने साधे हैं. अपने दो दिवसीय कार्यक्रम में पीएम मोदी ने काशी से यूपी से लेकर पंजाब जीत का लक्ष्य तय किया है।
काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के जरिए पीएम मोदी ने यूपी और पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव के साथ ही 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारियों का ट्रेलर दे दिया है. दिव्य काशी भव्य काशी आयोजन की जो श्रृंखला महीने पर चलेगी, उससे कहीं ज्यादा दिव्य और भव्य आयोजन अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण कार्य पूरा होने पर होगा.

पीएम ने भाषण में मुगल शासक औरंगजेब को टक्कर देने वाले छात्रपति शिवाजी और सालार महमूद को हराने वाले महाराज सुहेलदेव राजभर का मंच से नाम लिया. उन्होंने काशी विश्वनाथ को एक सरकार बताकर राहुल गांधी के हिंदू और हिंदुत्ववादी के बयान का भी जवाब दे दिया है.

प्रधानमंत्री मोदी के माध्यम से बीजेपी काशी के साथ ही पूर्वांचल को भी साधने में जुटी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ में ब्राह्मण नेता हरिशंकर तिवारी के सपा में जाने से होने वाले नुकसान को काशी से पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. माना जा रहा है चुनौती बने पूर्वांचल की जीत का रास्ता काशी से होकर ही जाएगा.

काशी विश्वनाथ ही नहीं पीएम मोदी को सीरगोवर्धनपुर स्थित संत गुरु रविदास महाराज के जन्म स्थान का भी जीर्णोद्धार का श्रेय है. इस पवित्र स्थल में पंजाब और हरियाणा से बड़ी संख्या में अनुयायी सीरगोवर्धन आते हैं. माघी पूर्णिमा को सीरगोवर्धन में बड़ा आयोजन होना है. इसलिए माना जा रहा है कि काशी से पंजाब चुनाव के समीकरण भी तय किए जाएंगे।