‘पैरवी और रिश्तेदारी से विधायकी का टिकट नहीं’ : मोदी

मुख्यमंत्रियों की बैठक में पीएम मोदी की सख्त हिदायत पी.एम. मोदी ने कहा कि विधायकों के पांच साल के रिपोर्ट कार्ड को चेक किया जाए और जनता के बीच उनकी लोकप्रियता का फीडबैक लेकर चुनाव में टिकट तय किया जाए।

भूप एक्सप्रेस।
वाराणसी। काशी में अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन सुबह पीएम नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों संग बैठक की। वाराणसी के बरेका स्थित प्रशासनिक भवन में बैठक चल रही है। बैठक में बीजेपी शासित राज्यो के मुख्यमंत्रियों और बीजेपी पार्टी अध्यक्ष के साथ बैठक कर रहे है. बैठक में पीएम ने मुख्यमंत्रियों को कई निर्देश दिए।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि पीएम की क्लास में सभी बीजेपी शासित मुख्यमंत्रियों अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया।पीएम ने मोदी सभी को सख्त आगाह किया है कि आप सभी जनता से जुड़े रहे और जनता के बीच मे स्वयं जा कर अपने कार्यो का रिपोर्ट कार्ड दें। साथ ही विपक्ष के सभी सवालों का जवाब अपने विकास किये कार्यो की जानकारी जनता के बीच मे पहुंचाए।

वहीं यूपी, उत्तराखंड सहित जिन राज्यो में चुनाव होना है. वहां के सीएम अपना रिपोर्ट कार्ड और प्लान का प्रजेंटेशन पीएम मोदी को बता रहे हैं। बैठक में करीब 12 राज्यों के मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम मौजूद हैं।

पीएम ने सभी राज्यो के मुख्यमंत्रियों को काशी विश्वनाथ धाम विकास का मॉडल अपने राज्यों में जनता तक पहुंचाने का निर्देश दिया। पीएम ने कहा कि सभी पांच राज्यो के चुनाव में सभी विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र में जाएं, जनता के बीच में अपने किए हुए कार्यों को बताएं और जो भी कार्य रूक गए, उसे पूरा करें।

बैठक के दौरान पीएम मोदी ने संगठन के लोगो से कहा की विधायकों के पांच साल के रिपोर्ट कार्ड को चेक करे और जनता के बीच उनकी लोकप्रियता का फीडबैक लेकर चुनाव में टिकट तय किया जाए। टिकट को लेकर किसी भी पैरवी और रिश्तेदारी को कतई तवज्जो नहीं देना है।

पीएम मोदी ने बैठक में सभी को जीत का मंत्र दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए सभी जन प्रतिनिधि जनता के बीच में बने रहें और संगठन के लोग अपनी अलग-अलग उपस्थिति बरकरार रखें। गांव कस्बे मोहल्ले और कॉलोनियों में छोटी-छोटी चौपाले आयोजित कर प्रदेश और केंद्र की योजनाओं की जानकारी जनता को दें। सोशल मीडिया पर सक्रिय रहे और संयमित तरीके से जनता के बीच में अपनी बात रखें।