500 पाकिस्तानी जायरीन आएंगे ख्वाजा साहब के उर्स में, शिवसेना करेगी विरोध

सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के अगले माह शुरू होने वाले उर्स में 500 पाकिस्तानी जायरीन शिरकत करेंगे। जिला प्रशासन एवं खुफिया विभाग को यह जानकारी मिली है। उधर शिवसेना ने पाकिस्तानी जायरीन के आगमन पर विरोध का ऐलान किया है।

भूप एक्सप्रेस।
अजमेर। सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के अगले माह शुरू होने वाले उर्स में 500 पाकिस्तानी जायरीन शिरकत करेंगे। जिला प्रशासन एवं खुफिया विभाग को यह जानकारी मिली है। पाक जत्थे की व्यवस्थाओं को लेकर जिला प्रशासन ने मंगलवार को बैठक भी बुलाई है। हालांकि कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए पाकिस्तानी जत्थे के यहां आने के कार्यक्रम में बदलाव भी हो सकता है। उधर शिवसेना ने पाकिस्तानी जायरीन के आगमन पर विरोध का ऐलान किया है।

गरीब नवाज का उर्स इस बार 2 फरवरी से शुरू होगा। उर्स में हर साल पाकिस्तानी जायरीन जत्था आता रहा है। पिछले साल कोरोना संक्रमण के चलते पाकिस्तानी जत्था अजमेर नहीं आ सका था। इस बार माना जा रहा है कि करतारपुर साहिब के रास्ते खुलने के बाद पाकिस्तानी जायरीन के भी अजमेर आने का रास्ता खुल गया। जिला प्रशासन को हालांकि 500 पाकिस्तानी जायरीन के आने की सूचना मिली है। लेकिन बाद में यह संख्या बदल भी सकती है।

4 या 5 फरवरी को आ सकते हैं स्पेशल ट्रेन से
पाकिस्तानी जायरीन के अजमेर आने की तिथि फिलहाल जारी नहीं की गई है, लेकिन सूत्रों के अनुसार पाकिस्तानी जायरीन 4 या 5 फरवरी को स्पेशल ट्रेन से अजमेर पहुंच सकते हैं।

पाक जायरीन के आगमन का शिवसेना विरोध करेगी
पुष्कर. अजमेर में ख्वाजा साहब के उर्स के दौरान फरवरी माह में पाकिस्तानी जायरीन के आगमन का शिवसेना विरोध करेगी। शिवसेना के अजमेर संभाग प्रभारी श्याम सुन्दर पाराशर ने बयान जारी कर बताया कि शिवसेना की जिलास्तरीय बैठक आयोजित कर जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। उन्होंने कहा कि पाक जायरीन को इजाजत देना गलत होगा। सोमवार को इस मसले को लेकर जिला प्रमुख मनोहर सिंह राजावत, अजमेर प्रमुख चंद्रशेखर चौहान, दिनेश गहलोत, युवा सेना के हेमन्त भाटी, आशुतोष पाराशर, नाथू लाल मेजर के साथ विचार-विमर्श भी किया गया।

उर्स मेला तैयारी बैठक 11 को

अजमेर. जिला मजिस्ट्रेट प्रकाश राजपुरोहित की अध्यक्षता में उर्स मेला 2022 के अवसर पर प्रबंध एवं अन्य प्रशासनिक व्यवस्थाओं के संबंध में विचार-विमर्श के लिए 11 जनवरी को कलक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया जाएगा। पूर्व में यह बैठक 4 जनवरी को प्रस्तावित थी।

इनका कहना है

फिलहाल 500 पाकिस्तानी जायरीन के अजमेर आने की सूचना पत्र के माध्यम से मिली है। व्यवस्थाओं के लिए मंगलवार को बैठक में चर्चा की जाएगी।
राजेन्द्र अग्रवाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर)