चर्चित मैनपुरी अग्निकांड में मानव अधिकार आयोग से पीड़ित पक्ष को न्याय की गुहार

भूप एक्सप्रेस।
हिसार। उत्तरप्रदेश के चर्चित मैनपुरी अग्नि कांड में मानव अधिकार आयोग द्वारा पीड़ित पक्ष को अपना पक्ष रखने को कहा है। अभी तक कि कार्यवाही में पीड़ित परिवार को आयोग के दवाब के चलते स्थानीय सरकार द्वारा इस अमानवीय शर्मशार घटना में परिवार के पांच सदस्यों की मृत्य के एवज में पांच लाख का आर्थिक सहयोग कर इस मामले में लीपापोती की गई है। और पीड़ित परिवार इस अग्निकांड के 2 वर्ष पश्चात भी सरकारी नौकरी के लिए गुहार लगाए हुए है।

अग्निकांड में गरीब परिवार की सरकार द्वारा कोई ठोस कारवाही न होने के विरुद्ध आयोग को समाजिक कार्यकर्ता डॉ अजय प्रजापति द्वारा केस संख्या 22345/24/51/2020 दर्ज करवाया गया था । जो कि आयोग में विचाराधीन है।

उक्त अग्निकांड में गांव खरपरि के ही मुजरिम मुरारी ने रंजिशन पड़ोस में सोए हुए परिवार पर दिनांक 18 जून 2020 को मिट्टी का तेल छिड़क कर पूरे घर को आग के हवाले कर दिया था। जिसमे परिवार के पांच लोगों की जलने से उपचार के दौरान मौत हो गई थी। इसके विरुद्ध पोलिश प्रसाशन द्वारा आईपीसी की धारा 302/307/326ए/436/506 के तहत मुकदमा दर्ज कर मुजरिम मुरारी को जेल भेज दिया गया था।