अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव कल से, तीर्थयात्रियों को हरियाणा रोडवेज के किराये में 50 प्रतिशत की छूट

हरियाणा में गीता जयंती महोत्सव कल यानी 19 नवंबर से शुरू हो गया है। यह 6 दिसंबर तक चलेगा

भूप एक्सप्रेस न्यूज।
चंडीगढ़(नंदपाल)। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्र में आयोजित अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती समारोह में भागीदारी करने के लिए 19 नवंबर से छह दिसंबर तक 10 जिलों के यात्रियों को राज्य परिवहन की बसों के किराये में 50 प्रतिशत छूट प्रदान करने की मंजूरी प्रदान की है। मुख्यमंत्री के इस फैसले का गीता जयंती महोत्सव में भाग लेने वाले लाखों तीर्थ यात्रियों को लाभ मिलेगा।

परिवहन मंत्री पंडित मूलचंद शर्मा ने बताया कि कुरुक्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर का गीता जयंती महोत्सव हर साल मनाया जाता है। इस महोत्सव में देश-विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु भाग लेते हैं। महोत्सव की महत्ता को ध्यान में रखते हुए तथा ज्यादा से ज्यादा लोगों को परिवहन सेवाओं का लाभ प्रदान करने के लिए हरियाणा राज्य परिवहन की बसों के किराए में 50 प्रतिशत की छूट देने का फैसला किया गया है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह में 19 नवम्बर से 6 दिसम्बर तक जाने के लिए 10 जिलों के यात्रियों को राज्य परिवहन की बसों के किराए में 50 % छूट देने की घोषणा की है। इसका महोत्सव में भाग लेने वाले लाखों तीर्थ यात्रियों को लाभ मिलेगा।
कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की अनुशंसा पर पहले केवल कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, जींद व कैथल जिलों के तीर्थ यात्रियों को किराए में छूट प्रदान की जा रही थी। परिवहन मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री चाहते हैं कि अधिक से अधिक लोग अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव में भागीदारी करने आएं, जिसके चलते पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, सोनीपत और रोहतक जिलों को भी इस किराए की छूट में शामिल किया गया है।
गीता जयंती समारोह के दौरान सरकार द्वारा कुरुक्षेत्र के 48 कोस की परिधि में आने वाले 75 धार्मिक तीर्थ स्थलों पर अनेक प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इन क्षेत्रों में तीर्थ यात्री आसानी से भ्रमण करने के अलावा कार्यक्रमों का आनंद ले सकेंगे।

ब्रह्मसरोवर की तर्ज पर विकसित होगा ज्योतिसर तीर्थ

हरियाणा सरकार कुरुक्षेत्र के ब्रह्मसरोवर की तर्ज पर ज्योतिसर तीर्थ को भी विकसित करेगी। इसके लिए ज्योतिसर तीर्थ पर 250 करोड़ रुपये खर्च होंगे। कुछ परियोजनाओं पर काम चालू है तो कुछ पर काम आरंभ होना है। भविष्य में ज्योतिसर तीर्थ का अद्भुत स्वरूप देश-विदेश के श्रद्धालुओं व सैलानियों को नजर आएगा। तीर्थ यात्री एक दफा आएंगे तो अविस्मरणीय यादों को अपने साथ लेकर जाएंगे।

अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव को व्यापक स्वरूप देने की कड़ी में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि ज्योतिसर तीर्थ पर 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से भगवान श्रीकृष्ण द्वारा दिखाए गए विराट स्वरूप को स्थापित कर दिया गया है। इस विराट स्वरूप की मूर्ति को सुप्रसिद्ध मूर्तिकार राम सुतार ने बनाया है। ज्योतिसर में थ्री-डी प्रोजेक्शन मैपिंग शो भी दर्शकों को देखने को मिलेगा। इसका उद्घाटन शनिवार 19 नवंबर को किया जाएगा।
मुख्यमंत्री के अनुसार, ज्योतिसर तीर्थ पर छह संग्रहालय बनाए जाएंगे। इन संग्रहालयों में वर्चुअली महाभारत, श्रीमद्भागवत गीता, कुरुक्षेत्र और 48 कोस से जुड़े प्रसंगों को दिखाया जाएगा। इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक जैसे आगमेंटेड रियलिटी, होलोग्राफिक इमेज, रोबोटिक और ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा।