डी.ए.वी. पुलिस पब्लिक स्कूल यमुनागर में कक्षा 3 के छात्र की बर्बरता से पिटाई

भूप एक्सप्रेस।

यमुनानगर। डी.ए.वी. पुलिस पब्लिक स्कूल यमुनागर के प्रिंसिपल ने कक्षा-3 के छात्र ओजस को बर्बरता से पीटा है। बच्चे की मां पुलिस में है और ये स्कूल भी पुलिस लाइन में है। परिजनों की माने तो प्रिंसिपल बच्चे से खुंदक रखता है और उससे मारपीट के बहाने तलाशता है। बच्चे को इसलिए पीटा गया, क्योंकि वह अपना स्कूल आई कार्ड घर पर भूल गया था। बच्चे का सिविल अस्पताल में हुए मेडिकल में शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। वहीं, प्रिंसिपल ने मारपीट से इनकार किया है।

पुलिस लाइन में रहने वाली महिला पुलिस कर्मी का बेटा ओजस डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल में कक्षा 3 में पढ़ता है। बुधवार को वह स्कूल में आया तो उसके पास आई कार्ड नहीं था। आरोप है कि स्कूल प्रिंसिपल ने इसको लेकर बच्चे को डंडे से बुरी तरह से पिटना शुरू कर दिया। बच्चे ने बाद में घर जाकर अपनी मां को स्कूल में पिटाई की जानकारी दी।

बेटे को मेडिकल के लिए जगाधरी सिविल अस्पताल लेकर पहुंची उसकी मां

महिला पुलिस कर्मी अपने बेटे ओजस को लेकर सिविल अस्पताल पहुंची और उसका मेडिकल कराया। बच्चे की गर्दन और पीठ पर मारपीट के निशान बताए गए हैं। महिला ने एसपी कार्यालय में बच्चे से मारपीट की शिकायत दी है। उसने आरोप लगाया कि प्रिंसिपल पहले भी बच्चे से मारपीट कर चुके है। पहले घड़ी बांधकर स्कूल जाने पर भी बच्चे के साथ मारपीट की गई थी।

बच्चे के साथ मारपीट नहीं की, सिर्फ समझाया : प्रिंसिपल

बच्चे से मारपीट के मामले में डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल अनूप चोपड़ा का कहना है कि बच्चे को पीटा नहीं गया। उसे सिर्फ समझाया गया था। गर्दन पर चोट के जो निशान हैं, वे बच्चे की स्किन नाजुक होने से पड़े हैं। स्कूल में पढ़ने वाला हर बच्चा उनके अपने बच्चे जैसा है।