हरियाणा – पंजाब CM आवास के पास मिला बम, थोड़ी दूरी पर हेलीपैड भी, आर्मी कल करेगी बम को डिफ्यूज

भूप एक्सप्रेस।

चंडीगढ़। सोमवार को सेक्टर 2 स्थित राजिंदरा पार्क आम के बाग में सोमवार दोपहर जिंदा बम मिलने से हड़कंप मच गया। यह VVIP इलाका है। जहां नजदीक में ही पंजाब के CM भगवंत मान और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर का सरकारी आवास है।

यही नहीं, इसकी कुछ दूरी पर हेलीपेड है, जहां CM भगवंत मान का हेलिकॉप्टर उतरता है। बम की सूचना मिलते ही चंडीगढ़ पुलिस की टीम बम और डॉग स्क्वायड लेकर मौके पर पहुंची।

बम को चारों तरफ से कवर करने के बाद आर्मी बुलाई गई। आर्मी की टीम इसे कल डिफ्यूज करेगी। वहीं पंजाब और हरियाणा पुलिस के सीनियर अफसर भी बम बरामदगी वाली जगह पर पहुंच गए हैं।

ट्यूबवेल ऑपरेटर ने पुलिस को दी बम दिखाई देने की सूचना

राजिंदरा पार्क के आगे स्थित आम के बाग में ट्यूबवेल लगा हुआ है। सोमवार दोपहर जब ऑपरेटर ट्यूबवेल चलाने गया तो उसने यह बम देखा। उसने तुरंत चंडीगढ़ पुलिस को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स वहां मौके पर पहुंची और तुरंत पूरे इलाके को सील कर दिया। फिलहाल उसके पास किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है।

बम फाइबर ड्रम में रखा, चारों तरफ सैंड बैग रखे गए

बम का जिंदा होने की वजह पुलिस ने तुरंत एहतियाती कदम उठाए। बम को फाइबर के ड्रम में रख दिया गया है। इसके चारों तरफ सैंड बैग रख दिए गए हैं, ताकि फटने की सूरत में इससे आसपास के इलाकों को नुकसान न पहुंचे। कोई भी व्यक्ति बम के नजदीक न जाए, इसके लिए चारों तरफ पुलिस तैनात कर दी गई है।

कल मंगलवार सुबह चंडी मंदिर से आएगी आर्मी टीम

बम को डिफ्यूज करने के लिए चंडी मंदिर से आर्मी की टीम मंगलवार सुबह पहुंचेगी। आर्मी अधिकारियों के मुताबिक उन्हें बम की सुचना देरी से मिली। अंधेरा होने की वजह से अब बम को डिफ्यूज करने का ऑपरेशन करना संभव नहीं है। यह खतरनाक हो सकता है। इस वजह से इसे टाल दिया गया।

स्ट्राइक करने की स्थिति में फट सकता है बम

एक्सपर्ट के मुताबिक यह जिंदा बम है तो स्ट्राइक करने की स्थिति में फट सकता है बम। पहले भी इस तरह के केस सामने आए हैं, जब कबाड़ में खरीदे ऐसे बम को तोड़ने के लिए हथौड़ा या अन्य भारी चीज से वार किया गया तो वह फट गया। इस वजह से पुलिस की टीमें पूरी एहतियात बरत रही हैं।

पुलिस ने कहा आर्मी बताएगी, कहां से आया है बम ?

चंडीगढ़ पुलिस के मुताबिक बम पर कुछ कोड लिखे हुए हैं। जो देखने में आर्मी के लग रहे हैं। इसी वजह से अब इसकी जांच आर्मी ही करेगी कि बम कहां से आया?। पुलिस ने इस संबंध में जानकारी देने के लिए भी आर्मी के अफसरों से मदद मांगी है।