रवि दहिया का सीएम ने किया सम्मान- खिलाड़ी ही नहीं क्रांतिकारियों का भी गांव नाहरी विश्वयुद्ध में 229 जवान लड़े, 29 ने शहादत दी

 

भूप एक्सप्रेस।

सोनीपत/रणबीर रोहिला। टोक्यो ओलंपिक में देश को रजत पदक दिलाने वाले पहलवान रवि दहिया के सम्मान समारोह में पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि नाहरी गांव खेलों के साथ क्रांतिकारी लोगों का गांव है। विश्व युद्ध में यहां के 229 सैनिक लड़े और 29 जवानों ने अपनी शहादत देकर इतिहास रचा था। आज एक बार फिर इस गांव के लाडले रवि दहिया ने इतिहास रचते हुए गांव का नाम विश्व पटल पर चमका दिया है। सीएम मनोहर लाल ने कहा कि मेरी इच्छा है कि इस गांव के सामने नतमस्तक होकर गांव को नमन करूं। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि गांव में जो भी समस्याएं हैं, उन्हें प्राथमिकता से दूर किया जाएगा। गांव को 24 घंटे बिजली मिल सके, ऐसी व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि खेलो के पदकों में हमारी 50 प्रतिशत भागीदारी है। पदकों की संख्या में इजाफा करने के लिए हरियाणा को खेलों का हब बनाया जाएगा। रवि दहिया जैसे खिलाड़ी और बनाये जाएंगे। गांव में इनडोर कुश्ती स्टेडियम बनाया जाएगा,जहां रवि दहिया अपने जैसे और भी खिलाड़ियों को तैयार कर देश का नाम रोशन करेंगे। सम्मान समारोह में पहुंचे खेल मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि आज हमारे खिलाड़िय़ों ने देश का नाम रोशन कर टोक्यो में देश का झंडा लहरा दिया है। नाहरी गांव के लाडले रवि दहिया ने रजत पदक लेकर अपने गांव का नाम विश्व पटल पर चमका दिया है। उन्होंने कहा कि 2024 पेरिस ओलंपिक में इस गांव से और भी खिलाड़ी खेलेंगे। खेल मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि 2014 से भाजपा सरकार आने के बाद हर प्रतियोगिता में देश के 50 पदकों में 25 पदक हरियाणा के होते हैं। इसका मुख्य कारण देश में हरियाणा सरकार की खेल नीति सबसे अच्छी है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश को खेलों का हब बनाने के लिए यहां आउटस्टैंडिंग पॉलिसी लेकर आएंगे, जिसके चलते खिलाड़ी नौकरी भी करेंगे और खिलाड़ी भी बनाएंगे। रवि दहिया ने सीएम मनोहर लाल समेत मंच पर बैठे लोगों व ग्रामीणों का आभार व्यक्त किया और सम्मान स्वरूप मिली राशि को गांव के विकास के लिए दान कर दी।