सत्यवान झोंका प्रजापति को हरियाणा रोड़वेज में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए किया गया सम्मानित

सत्यवान प्रजापित 19 जून 2012 से परिचालक के रूप में दे रहे रोड़वेज में सेवाएं

भूप एक्सप्रेस।

चण्डीगढ़। जीवन में उत्कृष्ट कार्य करने पर इन्सान को बहुत गौरव महसुस होता है। जब उस व्यक्ति को उसके द्वारा किये गए गौरवन्वीत कार्यों के लिए कही विशेष अवसर पर सम्मानित होने का अवसर मिल जाए तो उस क्षेत्र में कार्य करने हेतू उसके हौसले ओर भी बुलन्द हो जाते हैं। जी हां हम इसी कड़ी में बात कर रहे हैं हरियाणा के जिला भिवानी के गांव समसपुर के निवासी सत्यवान झोंका प्रजापति की, जो कि हरियाणा राज्य परिवहन विभाग में एक परिचालक के रूप में सेवारत हैं। उनकी उत्कृष्ट सेवाओं को देखते हुए देश के 75वे स्वतंत्रता दिवस पर विभाग द्वारा सत्यवान को प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया गया।

आपको बता दें कि भाई सत्यवान का जन्म 1 अगस्त 1979 को उक्त गांव में हुआ और उनकी माता राजपति के कुशल ग्रहणी रही। जिन्होंने अपने बच्चों को अपनें आंचल में रख शिक्षा देते हुए बेहतरीन परवरिश दी जिसके परिणामस्वरूप उनका सुपुत्र कामयाब हुआ। परिवार में दो भाइयों में बड़े होने के नाते परिवार की जिम्मेदारी उन पर सदैव बनी रही और BA तक कि पढ़ाई उन्होंने अपने ननिहाल गांव सांगा जिला भिवानी में पूर्ण की और हरियाणा राज्य परिवहन विभाग चण्डीगढ़ में 19 जून 2012 को परिचालक के रूप में जॉइन किया। छोटा भाई सत्यपाल भी हरियाणा के प्राइवेट स्कूल में क्लर्क के रूप में गांव बिरोहड़ जिला झज्झर में कार्यरत है। सत्यवान हाल ही में चंडीगढ़ सेक्टर 25 D  पिछले 9 वर्षों से रह रहे है और उनकी धर्मपत्नी सुनीत घरेलू गृहणी है। पुत्र  साहिल एक मेधावी छात्र है और 12वी की परीक्षा उत्तीर्ण करेगा। छोटी बेटभ् कुमारी अंजली 10वी कक्षा में अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ा रही है।

डॉक्टर अजय कुमार प्रजापित ने बताया कि ट्राइसिटी चण्डीगढ़ के लिए ये गर्व की बात है कि सत्यवान प्रजापति को उनकी योग्यता स्वरूप उनकी उत्कृष्ट सेवाओं को देखते हुए उनको प्रशस्ती पत्र से विभाग द्वारा नवाजा गया। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रजापति हिरोज ऑर्गेनाईजेशन की ट्राइसिटी चण्डीगढ़ की पूरी टीम उनको उस उपलब्धी के लिए ढेरों हार्दिक बधाई देती है।