एयर फोर्स मे एयर मैन रिक्रूटमेंट भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा मे पेपर पास करवाने के मामलें मे एक और आरोपित को पुलिस ने किया काबू

भूप एक्सप्रेस।
पानीपत। सीआईए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर ने जानकारी देते हुए बताया पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन जी के कुशल मार्गदर्शन मे कार्रवाई करते हुए  गत 17 जूलाई को सीआईए-थ्री पुलिस की टीम ने न्यू माडर्न सीनियर सैकेंडरी स्कूल गन्दा नाला जी.टी. रोड पानीपत मे चल रही एयर फोर्स मे एयर मैन रिक्रूटमेंट भर्ती की ऑनलाइन परिक्षा मे पेपर सॉल्व करते गिरोह के सरगना रिक्की सहित चार सदस्यों को पेपर पास करवाने मे प्रयोग किये जा रहे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों सहित काबू किया था । आरोपितों की पहचान जितेन्द्र उर्फ जीतू पुत्र रामकुमार निवासी गामडा नारनौंद हिसार, रिक्की पुत्र जितेन्द्र निवासी बरौदा सोनीपत, धर्मबीर पुत्र तेजराम निवासी आसन रोहतक व अमित पुत्र रामपाल निवासी हडौदी दादरी के रूप मे हुई थी । आरोपितों के खिलाफ थाना  सदर मे धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओ के तहत मुकदमा दर्ज कर गहनता से पुछताछ करने पर सामने आया था कि आरोपित रिक्की स्टूडेंट को आर्मी, एयर फोर्स व नेवी की कोचिंग देने के लिए रोहतक मे शीला बाइपास के नजदीक भारत निर्माण नाम से ऐकेडमी चलाता है । वही आरोपित जितेन्द्र उर्फ जीतू निवासी गामडा हिसार पहले भी ग्राम सचिव पेपर लीक मामले मे जेल जा चुका है जो जेल से बेल पर आया हुआ था । आरोपित उक्त एयर फोर्स की भर्ती मे 3 से 6 लाख रुपये प्रति अभ्यार्थी से लेकर पेपर पास करवा रहे थे ।
आरोपितों को माननीय से 6 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर चारों की निशानदेही पर गिरोह मे शामिल मदन निवासी सांतोर चरखी दादरी हाल तिलक नगर रोहतक व विनोद निवासी समर गोपालपुर रोहतक को गिरफ्तार किया गया था । आरोपित मदन अंतर्राष्ट्रीय स्तर का कुश्ती खिलाड़ी रह चुका है । मदन ने खेल कोटे से भारतीय जल सेना मे भर्ती होने के बाद वर्ष 2011 मे रिटायरमेंट लेने के बाद रोहतक मे शीला बाईपास पर भारद्वाज डिफैंस एकेडमी के नाम से कोचिंग सैंटर शुरू कर दिया । एकेडमी मे पुलिस व भारतीय सेनाओ मे भर्ती के लिए बच्चो को कोचिंग देते थे । मदन ने उक्त भर्ती मे पेपर पास करवाने के लिए आरोपितों को 8/10 अभ्यार्थीयों के रोल नम्बर दिये थे । जिनमे से 2 अभ्यार्थीयो का पेपर आरोपित करवा चुका था । वहीं आरोपित विनोद वर्ष 2008 मे हरियाणा पुलिस मे सिपाही के पद पर भर्ती हुआ था । विनोद ने आरोपितों से संपर्क साधकर उक्त भर्ती की ऑनलाइन परिक्षा मे 3 अभ्यार्थीयों के पेपर पास करवाए है ।

आरोपितों की  निशानदेही पर उक्त भर्ती मे अवैध रूप से पेपर पास करवा कर अवैध रूप से कमाई गई नगदी मे से कुल 4 लाख 84 हजार रूपये की नगदी बरामद कर रिमांड अवधी पूरी होने पर 6 आरोपितों को माननीय न्यायालय मे पेश कर न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया था ।

इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर ने बताया पुलिस द्वारा की गई तफतीश मे सामने आया था कि यूपी के जिला मुजफरनगर के बिजवाड़ा निवासी सुक्रमपाल ने आरोपित रिक्की के फोन पर कई बच्चो के एडमीट कार्ड भेजे हुए थे । सीआईए-थ्री पुलिस टीम ने बुधवार को आरोपित सुक्रमपाल को गिरफ्तार किया ।