सब्जी मंडी पानीपत के एक मुनीम ने सेल के 22 हजार रूपये हड़पने के चक्कर में लूट की झूठी वारदात की कहानी गढ कर करवाया झूठा मुकदमा दर्ज

अनुसंधान के दौरान खुलाशा होने पर पुलिस ने की युवक के खिलाफ कार्रवाई

भूप एक्सप्रेस।
पानीपत (नंदपाल)। थाना चांदनी बाग प्रभारी इंस्पेक्टर मंजीत ने बताया 4 अक्तूबर को श्रवण पुत्र रामस्वरुप निवासी धनसौली ने थाना चांदनी बाग मे शिकायत देकर बताया था की वह पानीपत सब्जी मंडी मे एक दुकान पर मुनीम के रूप मे नौकरी करता है। 4 अक्तूबर की सुबह करीब साढ़े 4 बजै वह बाईक पर सवार होकर गांव से पानीपत सब्जी मंडी मे दुकान पर आ रहा था। रास्ते मे काला आम्ब के पास पहुंचने पर अज्ञात तीन युवको ने उसकी बाइक को रुकवाकर उसका फोन छिनकर जमीन पर मारकर तोड़ दिया और जैब मे पर्स से 22 हजार रूपये छिनकर फरार हो गए। युवकों ने मुंह पर कपड़ा बांधा हुआ था व हाथ मे डंडे लिये हुए थे। इंस्पेक्टर मंजीत ने बताया श्रवण की शिकायत पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ लूट की विभिन्न धाराओं के तहत थाना चांदनी बाग मे मुकदमा दर्ज कर विभिन्न पहलुओं पर छानबीन शुरू कर दी गई थी।

इंस्पेक्टर मनजीत ने बताया अनुसंधान के दोरान संदेह होने पर श्रवण से पूछताछ की तो श्रवण ने लूट की वारदात का झूठा मुकदमा दर्ज करवाने बारे स्वीकारा। अनुसंधान के दौरान की गई पुछताछ मे श्रवण ने बताया की शादी के कई वर्षो बाद उसकी पत्नी को सितंबर माह मे बेटा हुआ था। रिश्तेदार बेटा होने पर बड़ा प्रोग्राम करने का दबाव बना रहे थे परंतु उसके पास पहले ही पैसो की तंगी चल रही थी। 3 अक्तूबर को उसने दुकान पर करीब 22 हजार रूपए के टमाटर बेचे थे, शाम को घर जाते समय वह सारे पैसों को साथ ले गया। घर जाने पर पत्नी के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई तो उसने अपना फोन जमीन पर मारकर तोड़ दिया। सुबह जब वह दुकान पर आ रहा था तो उसके मन मे खोट आ गया और उसने लूट की वारदात की मनगढ़ंत कहानी बनाकर थाना मे झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया।

इंस्पेक्टर मंजीत ने बताया झूठा मुकदमा दर्ज करवाने पर श्रवण के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल मे लाई गई।