भूप एक्सप्रेस। हिसार (16 मार्च) : भारतीय जनता पार्टी द्वारा इलेक्टोरल बॉन्ड के माध्यम से वसूल की गई करोड़ों की रकम को भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा बताते हुए हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट ने पार्टी की कड़ी निंदा की है। हिसार के लघु सचिवालय स्थित कार्यालय में हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के सदस्यों एवं अन्य अधिवक्ताओं ने बैठक करके स्पष्ट किया कि इलेक्टोरल बॉन्ड के माध्यम से भाजपा ने कई सौ करोड़ का घोटाला किया है। हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के जिला अध्यक्ष एडवोकेट रतन सिंह पानू की अध्यक्षता में आयोजित की गई इस बैठक में भाजपा द्वारा मोटा चंदा वसूलने के तरीकों का विस्तार से खुलासा किया गया। बैठक के दौरान हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट लाल बहादुर खोवाल ने कहा कि इलेक्टोरल बॉन्ड आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा घोटाला है। इस घोटाले से जुड़े लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई के लिए हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट प्रभावी कदम उठाएगा। यदि इन लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई न की गई तो हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के पदाधिकारियों व सदस्यों द्वारा धरना व प्रदर्शन भी किया जाएगा। खोवाल ने कहा कि भाजपा इलेक्टोरल बॉन्ड की जानकारी को सार्वजनिक करने से हर हाल में बचना चाहती है। इसलिए इलेक्टोरल बॉन्ड की अधूरी जानकारी देने पर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए एसबीआई के प्रति नाराजगी भी जताई है। एसबीआई द्वारा यूनीक अल्फा-न्यूमेरिक कोड का खुलासा करते ही भाजपा को कुल कितने सौ करोड़ का चंदा किससे मिला है, इसका पर्दाफाश हो जाएगा। एडवोकेट खोवाल ने कहा कि भाजपा ने चंदा दो-धंधा लो की नीति अपनाई हुई है। जिन लोगों ने इलेक्टोरल बॉन्ड के माध्यम से भाजपा को मोटा चंदा दिया, सरकार ने उन्हें ही बड़े-बड़े प्रोजेक्ट आवंटित किए। जो लोग मोटा चंदा नहीं देते उनके लिए भाजपा ने डराओ धमकाओ-चंदा पाओ की नीति अपनाई है। सरकार ईडी, सीबीआई व इन्कमटैक्स टीम से प्रतिष्ठित होटल, स्वास्थ्य सेवा, मोटर कंपनी, इंजीनियरिंग एवं अन्य उद्योगों पर रेड डलवाती है। इस रेड से घबराकर इन लोगों से इलेक्टोरल बॉन्ड के माध्यम से मोटा चंदा वसूलना आसान हो जाता है। इस प्रक्रिया को भाजपा की छापामार वसूली कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा। लाल बहादुर खोवाल ने कहा कि असलियत तो यह है कि चंदा भाजपा ने लिया और धंधा उनकी सरकार ने दिया। इसी भांति एक्शन सरकारी एजेंसी ने लिया और मोटी रकम भाजपा डकार गई। उन्होंने कहा भ्रष्टाचार मुक्त सरकार का दावा करने वाली भाजपा वास्तव में भ्रष्टाचार व घोटाले का सबसे बड़ा अड्डा है। यदि इलेक्टोरल बॉन्ड की निष्पक्ष व सुचारू जांच करवाई गई तो भाजपा के बड़े-बड़े नेताओं का पर्दाफाश हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जनता अब भाजपा की सच्चाई समझ चुकी है। लोगों को पता है कि बड़ी-बड़ी बातें करने वाली भाजपा सरकार अंदर से कितनी खोखली है। इसलिए आने वाले लोकसभा चुनाव व हरियाणा विधानसभा चुनाव में जनता भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने का काम करेगी। हरियाणा कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट की बैठक में राज्य सचिव श्वेता शर्मा, अधिवक्ता अजमेर सिंह मोर, राज्य सचिव पवन तूंदवाल व कुलवंत सिंह सैनी, सरबजीत सिंह, यूथ कांग्रेस प्रदेश सचिव एडवोकेट हिमांशु आर्य खोवाल, जिला महासचिव विपिन सलेमगढ़ व आशा बहलान, जिला सचिव गौरव टुटेजा, सहिल लाडूना, हिमांशु आर्य खोवाल, बलबीर कटारिया व ओमप्रकाश धरतरवाल सहित काफी संख्या में अधिवक्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।