भूप एक्सप्रेस। चंडीगढ़ । हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल को मोदी सरकार 3.0 में दो खास मंत्रालय ऊर्जा मंत्रालय और शहरी एवं विकास मंत्रालय दिया गया है, जिससे मनोहर लाल का कद काफी बढ गया है। मोदी सरकार 3.0 (Modi Cabinet) में मनोहर लाल ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली। कैबिनेट बैठक के बाद मंत्रालय को बांट दिया गया।

केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल आज संभालेंगें कार्यभार

ऊर्जा मंत्री और आवास एवं शहरी विकास मंत्री के तौर पर संभालेंगें कार्यभार

सुबह 10:30 बजे ऊर्जा मंत्रालय का कार्यभार संभालेंगे

दोपहर को आवासीय एवं शहरी विकास मंत्रालय का कार्यभार संभालेंगें

हरियाणा के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके मनोहर लाल का विधायक बनने से लेकर केंद्रीय मंत्री की कुर्सी तक पहुंचने का सफर विश्वास पर आधारित है। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल को दो मंत्रालय दिए गए हैं। उन्हें ऊर्जा और शहरी विकास मंत्रालय दिए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विश्वास के सहारे मनोहर लाल न केवल सफलता की सीढ़ियां चढ़ते गए, बल्कि उनके दिए हर टास्क को सफलतापूर्वक पूरा कर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सामने अनुकरणीय उदाहरण पेश किए। कई बार ऐसे अवसर आए, जब केंद्रीय मंत्रिमंडल और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में पीएम मोदी ने मनोहर लाल के कामकाज की तारीफ की और उनके नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार के फैसलों व पारदर्शी शासन व्यवस्था को आदर्श सरकार के रूप में पेश किया। सिर्फ इतना ही नहीं, हरियाणा और इससे दूर के राज्यों में भी पीएम मोदी ने मनोहर लाल की सरकार के निर्णयों को माइल स्टोन के रूप में पेश किया।

1996 में साथ में घूमते थे नरेंद्र मोदी और मनोहर लाल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विश्वास का ही नतीजा है कि उन्होंने मनोहर लाल को पहले करनाल से सांसद बनाया और फिर अपने मौजूदा मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्रियों की सूची में आठवें स्थान पर रखकर उनका राजनीतिक कद और मान सम्मान बढ़ाने का काम किया है। मोदी और मनोहर की मित्रता सिर्फ जान-पहचान तक सीमित नहीं है। 1996 में नरेंद्र मोदी जब हरियाणा भाजपा के प्रभारी थे, तब मनोहर लाल उनके साथ प्रदेश संगठन महामंत्री का दायित्व संभालते थे। दोनों का राज्य के हर कोने में आना-जाना होता था।

मनोहर लाल और मोदी की दोस्ती के कई किस्से

उस समय भाजपा स्वयं के बहुमत वाली सरकार बनाने की स्थिति में नहीं थी। भाजपा का इस्तेमाल सिर्फ दूसरे दलों की सरकार बनाने में सहयोग के लिए बैसाखियों के रूप में होता था, लेकिन तब मोदी और मनोहर ने अपनी बाकी टीम के सहयोग से इतनी जबरदस्त मेहनत की कि आज उनकी सफलता सिर चढ़कर बोल रही है। राजनीति में आने से पहले मनोहर लाल साइकिल पर कपड़े की फेरी लगाया करते थे। उन्होंने दिल्ली में भी कपड़े की दुकान पर काम किया।

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी ने दे दिया था संकेत

मनोहर लाल कई सालों तक आर.एस.एस. के प्रचारक रहे। उसके बाद वे भाजपा की सक्रिय राजनीति में आ गए। मनोहर लाल ने करनाल विधानसभा सीट से साल 2014 में पहला चुनाव लड़ा और जीतने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री बने। साल 2019 में भी करनाल से विधानसभा चुनाव जीतकर मनोहर लाल ने दूसरी बार प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाई। 2024 में लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी ने मनोहर लाल को केंद्र की राजनीति में ले जाने का संकेत गुरुग्राम में दे दिया था और उसके बाद मनोहर लाल की ही पसंद के कुरुक्षेत्र के तत्कालीन सांसद नायब सिंह सैनी को मुख्यमंत्री बना दिया।

हरियाणा विधानसभा चुनाव में मनोहर लाल निभाएंगे महत्वपूर्ण भूमिका

मोदी के विश्वास के सहारे सफलता की सीढ़ियां चढ़ते गए मनोहर लाल अब कैबिनेट मंत्री के रूप में केंद्रीय राजनीति में सक्रिय भूमिका में नजर आएंगे। सरकार और संगठन के तौर पर हरियाणा और दिल्ली के बीच सेतु का काम करने की जिम्मेदारी उन्हें सौंपी जा सकती है। हरियाणा में सफल रही विभिन्न योजनाओं के मॉडल को अब केंद्रीय स्तर पर भी लागू करने की दिशा में तो काम करेंगे ही, साथ ही इसी साल अक्टूबर में हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव में मनोहर लाल काफी अहम भूमिका में रह सकते हैं।

सेवा भाव वही, सिर्फ भूमिका नई है : मनोहर लाल

केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होकर अभिभूत हूं। जनसेवा की इस नई भूमिका के लिए संगठन और केंद्रीय नेतृत्व का आभार व्यक्त करता हूं। भाजपा संगठन के एक साधारण कार्यकर्ता के रूप में शुरू हुई जनसेवा की ये यात्रा, संगठन एवं पार्टी के वरिष्ठजनों के मार्गदर्शन, आशीर्वाद एवं कार्यकर्ताओं के सहयोग से आज इस पड़ाव पर पहुंची है। इस नई यात्रा में सदैव पूरी निष्ठा से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करूंगा क्योंकि सेवा भाव वही है, सिर्फ भूमिका नई है। प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में एनडीए का तीसरा कार्यकाल निश्चित तौर पर विकसित भारत के संकल्पों को सिद्ध करेगा एवं आने वाला समय भारत की नई उपलब्धियों का साक्षी होगा।